HOME

पढ़े संपूर्ण रामायण पहली बार हिंदी में

THINK ABOVE SKY श्री राम चरित मानस अवधी भाषा में गोस्वामी तुलसीदास द्वारा १६वीं सदी में रचित एक महाकाव्य है। श्री रामचरित मानस भारतीय संस्कृति में एक विशेष स्थान रखता है। भारत में रामायण के रूप में कई लोगों द्वारा प्रतिदिन पढ़ा जाता है। श्री रामचरित मानस में इस ग्रन्थ के नायक को एक महाशक्ति के रूप में दर्शाया गया है जबकि महर्षि वाल्मीकि कृत रामायण में श्री राम को एक मानव के रूप में दिखाया गया है। तुलसी के प्रभु राम सर्वशक्तिमान होते हुए भी मर्यादा पुरुषोत्तम हैं।

THINK ABOVE SKY
THINK ABOVE SKY

THINK ABOVE SKY

संवत्‌ १६३१ का प्रारम्भ हुआ। दैवयोग से उस वर्ष रामनवमी के दिन वैसा ही योग आया जैसा त्रेतायुग में राम-जन्म के दिन था। उस दिन प्रातःकाल तुलसीदास जी ने श्रीरामचरितमानस की रचना प्रारम्भ की। दो वर्ष, सात महीने और छ्ब्बीस दिन में यह अद्भुत ग्रन्थ सम्पन्न हुआ। संवत्‌ १६३३ के मार्गशीर्ष शुक्लपक्ष में राम-विवाह के दिन सातों काण्ड पूर्ण हो गये।हम भारतवासी आजकल अपने आप को इतना ज्यादा आधुनिक बनाने पर तुले हुए है कि हम अपने देश व समाज के बहुमुल्य ग्रंंथो जो कि अपने आप मे विश्व के महान ग्रंथ है को कभी याद नही करते जो अप्ने आप मे एक गलत सन्केत है।

मेरा ये एक छोटा सा प्रयास है कि मै अपने देश के इन महान विस्व प्रसिध सत्य ग्रंथो को आम आदमी के सामने प्रस्तुत कर पाउ ।

इस रामायण को यथा सम्भव आम बोलचाल कि भाषा मे लिखने का पुरा प्रयत्न किया ग्या है मेरि तरफ से फिर भि त्रुटियो के लिये आप सब से आग्रह एवम नम्र निवेदन है कि आप सब अपना बहुमुल्य सुझाव हमे प्रदान कर इस प्रयास को सफल बनाने मे सहायता प्रदान करे ।THINK ABOVE SKY

संपूर्ण रामायण आठो कांड - THINK ABOVE SKY